कीमतें नियंत्रित करने के लिए सरकार भूटान से कर रहीं 30,000 टन आलू का आयात:पीयूष गोयल

0

आसमान छू रही आलू और प्याज कीमतों को काबू में लाने के लिए केंद्र सरकार इनका आयात कर रही है।केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने गुरुवार को कहा कि भारत सरकार भूटान से 30 हजार टन आलू आयात कर रही है। उन्होंने कहा कि ऐसा आलू की घरेलू आपूर्ति बढ़ाने और कीमतों को कम करने के लिए किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि दिवाली तक देश में 32 हजार टन प्याज का आयात पूरा हो जाएगा। अभी तक 7000 टन प्याज का आयात हो चुका है। आलू की कीमत को लगाम में रखने के लिए भूटान से 30,000 टन आलू का आयात किया जा रहा है।बता दें कि देश में प्याज की कीमतें भी लगातार बढ़ रही हैं। केंद्र सरकार प्याज से साथ-साथ प्याज के बीज के निर्यात पर भी प्रतिबंध लगा चुकी है।

मंत्री ने कहा,”इसके अलावा 25,000 टन प्याज दिवाली से पहले आने की उम्मीद है।’’ आयात के अलावा मंडियों में अगले महीने नई खरीफ फसल की आवक शुरू होने से आपूर्ति स्थिति सुधरेगी और कीमतों पर दबाव कम होगा।”गोयल ने कहा कि सरकार ने प्याज के आयात को लेकर ‘फ्यूमिगेशन’ नियमों में ढील दी है। साथ ही प्याज के बीजों के निर्यात को प्रतिबंधित किया गया है। इसके अलावा जमाखोरी रोकने के लिये व्यापारियों पर भंडार सीमा लगाये गये हैं।

बताते चले की प्याज के बाद आलू का भाव भी पिछले दिनों आसमान छूने लगा था। आलू का रेट 60 के पार पहुंच गया था। गोयल ने कहा कि पिछले तीन दिनों में इसकी कीमत स्थिर हुई है और यह 42 के स्तर पर है। आलू के आयात के नियम को आसान किया गया है। पहले आलू के आयात पर 30 पर्सेंट ड्यूटी लगती थी। अब 31 जनवरी 2021 तक 10 लाख मिट्रिक टन आलू 10 पर्सेंट ड्यूटी पर आयात किया जाएगा। 30 हजार मिट्रिक टन आलू बहुत जल्द भूटान से भारत पहुंच रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here