2+2 वार्ता – ईरान से तेल खरीद पर पूरी पाबंदी चाहता है अमेरिका, नहीं देगा भारत को छूट

0
140

जयपुर, भारत व अमेरिका के बीच हुई टू प्लस टू वार्ता में एक बहुत महत्वपूर्ण COMCASA डील हुई, लेकिन रूस से मिसाइल सौदा व ईरान से तेल खरीद को लेकर अमेरिका ने अपना रूख साफ नहीं किया है। इन दोनों मुद्दों पर भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज व रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो व रक्षा मंत्री जिम मैटिस के साथ वार्ता की, हालांकि अमेरिकी नेताओं की ओर से इस मामले को लेकर अभी तक कोई स्थिति स्पष्ठ नहीं की है।Related image

उन्होंने यह साफ नहीं किया की वह भारत को ईरान से तेल खरीद पर छूट देंगे या नहीं। साथ ही भारत और रूस के बीच होनेवाले S-400 मिसाइल सिस्टम के सौदे पर भी अमेरिका ने साफ तौर पर कुछ नहीं कहा। भारत ने यह सौदा अमेरिका के प्रतिबंध की आशंका के बीच किया था। इसे लेकर अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पॉम्पियो ने कहा कि अमेरिका चाहता है कि सभी देश प्रतिबंध लगने के बाद ईरान से तेल आयात को जीरो तक ले आएं।Related image

इसके लिए उन्होंने कहा, ‘हम भारत और बाकी देशों को लगातार बता रहे हैं कि ईरान पर लगने वाले तेल प्रतिबंध 4 नवंबर से शुरू हो जाएंगे, इसलिए अपने तेल आय़ात को शून्य कर ले। साथ ही उन्होंने कहा कि  कई देशों को छूट दी जाएंगी लेकिन हम चाहते हैं आयात को जीरो तक ले आया जाए।  भारत को छूट देने की बात पर उनहोंने कहा, कि इसे लेकर बात कर रहे है। हम रियायत के लिए प्रतिबद्ध हैं।Image result for टू प्लस टू वार्ता

भारत के अलावा कई अन्य देश भी इस कतार में है। इसलिए अभी इसमें समय लगेगा।  रूस के साथ मिसाइल डील को लेकर उन्होंने कहा कि हम इस पर भी चर्चा कर रहे है ऐसा रास्ता निकाला जाएगा जिससे दोनों देशों को फायदा हो। इससे साफ जाहिर है कि अमेरिका को रूस के साथ डील रास नहीं आ रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here