12 प्राइवेट स्कूलों को नौ फीसदी ब्याज के साथ लौटानी होगी बढ़ी हुई फीस, कार्रवाई का आदेश

0
230

जयपुर। राजधानी के बाहर निजी स्कूलों में 9 फीसद ब्याज के साथ बढ़ी हुई फीस लौटाने का ऐलान कर आ गया है। कोर्ट की ओर से गठित कमेटी ने जुलाई-अगस्त की अंतरिम रिपोर्ट शिक्षा निदेशालय को सौंप दी है। और बताया जा रहा है कि शिक्षा निदेशालय ने क्षेत्रीय निदेशकों से अनुरोध किया है कि इन सभी 12 स्कूलों को आवश्यक आदेश जारी कर दिए जाएं।

शिक्षा निदेशालय की ओर से सभी क्षेत्रीय निदेशकों को इस संबंध में एक सर्कुलर जारी कर दिया गया है जिसके अंतर्गत कहा गया है कि पूर्व की अनिल देव सिंह कमेटी ने जून के महीने में साल 2016 से जून 2 साल 2019 तक 10 अंतरिम रिपोर्ट दे चुकी है, जिसमें सभी फूलों को नौ फीसद ब्याज के साथ फीस वापस लौटाने की सिफारिश करी गई थी।

इसके अलावा अब जानकारी यह आ रही है कि दिल्ली हाईकोर्ट की ओर से गठित कर दी गई कमेटी ने अपनी जुलाई-अगस्त 2019 की मासिक अंतरिम रिपोर्ट को सौंप दिया है। जिसके अंतर्गत समिति ने 12 और निजी स्कूलों की पहचान करी है जो प्रतिवर्ष 9 फीसद ब्याज के साथ शुल्क वापस करने का काम करेगी। ऐसे में निदेशालय ने संबंधित क्षेत्रीय निदेशकों से अनुरोध किया है कि वह इन सभी 12 स्कूलों को समिति की सिफारिशों के आधार पर आवश्यक आदेश जारी कर दी।

नहीं आपको बता दें कि यह सुनिश्चित किया जाए कि समिति की सिफारिशों का पालन हो और इसके साथ ही अनुपालन रिपोर्ट को भी प्रस्तुत किया जाए। गौरतलब है कि फीस बढ़ाने की जरूरत जांच के लिए बनी समिति समय-समय पर स्कूलों की फीस की समीक्षा कर अपनी रिपोर्ट को देता रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here