सरकार के 100 दिन महज ट्रेलर, पूरी पिक्चर अभी बाकी : पीएम मोदी

0
55

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को कहा कि 100 दिनों में उनकी सरकार द्वारा किए गए काम सिर्फ ट्रेलर हैं और पूरी फिल्म अभी बाकी है।

मोदी ने यहां राष्ट्रीय स्तर की तीन परियोजनाओं को लांच करने के दौरान कहा, “सरकार का 100 दिनों का काम केवल एक ट्रेलर है और फिल्म अभी बाकी है। जो यह सोचते थे कि वह कानून से बड़े हैं, वह अब जमानत चाहते हैं। मैंने जो वादा किया था, उसपर काम कर रहा हूं। मैंने एक कामदार और दमदार सरकार का वादा किया था।”

उन्होंने कहा, “100 दिनों में, मुस्लिम महिलाओं को उनका हक दिया गया और तीन तलाक कानून को लागू किया गया। आतंक विरोधी कानून को और मजबूत बनाया गया, जम्मू एवं कश्मीर के विकास के लिए काम शुरू किया गया। जो लोगों को लूट रहे थे, उन्हें सही जगह भेजा गया और हमने किसानों से जो वादा किया था, उसे पूरा किया जा रहा है।”

मोदी ने गुरुवार को किसानों और छोटे व्यापारियों के लिए एक पेंशन योजना लांच की और जनजातीय छात्रों के लिए 462 एकलव्य मॉडल आवासीय विद्यालय की सौगात दी। उन्होंने साहेबगंज जिले में रिवराइन मल्टी-मॉडल टर्मिनल और रांची में नई विधानसभा इमारत का उद्घाटन किया। उन्होंने इसके अलावा नए सचिवालय की आधारशिला भी रखी।

मोदी ने हाल ही में समाप्त हुए संसद के मानसून सत्र को ऐतिहासिक बताया जिसके लिए उन्होंने सांसदों और राजनीतिक पार्टियों का शुक्रिया अदा किया। उन्होंने कहा कि सत्र के दौरान महत्वपूर्ण बिल पारित किए गए।

मोदी ने कहा, “झारखंड राष्ट्रीय स्तर की परियोजनाओं के लिए लांचिंग पैड बन गया है। बीते वर्ष सितंबर में, विश्व की सबसे बड़ी स्वास्थ्य परियोजना आयुष्मान भारत भी इसी प्रभात टाटा मैदान से लांच की गई थी। आज राष्ट्रीय स्तर के तीन परियोजनाओं को लांच किया गया। यह झारखंड को नई पहचान देगा।”

मोदी ने कहा, “साहेबगंज मल्टी-मॉडल टर्मिनल झारखंड को नया अवसर उपलब्ध कराएगा। यह राजमहल क्षेत्र की घरेलू कोयले की खदानों से कई थर्मल पॉवर प्लांटों में कोयले के परिवहन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। इसके अलावा यह देश के अन्य हिस्सों में झारखंड के उत्पादों के लिए एक बाजार मुहैया कराएगा।”

मोदी ने कहा, “हमारी सरकार की योजना जनजातीय लोगों समेत अन्य लोगों की जिंदगियों को आसान बनाना है। हमने आयुष्मान भारत, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, जनधन खाता योजना को लांच किया जिसके बारे में पांच वर्ष पहले नहीं सोचा गया था।”

उन्होंने झारखंड के लोगों से सिंगल-यूज प्लास्टिक को समाप्त करने में सक्रिय रूप से शामिल होने का आग्रह किया।

मोदी ने कहा, “सिंगल-यूज प्लास्टिक को एक जगह इकट्ठा करें और महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर इस खतरे से देश को मुक्त करें।”

झारखंड में इस वर्ष के अंत विधानसभा चुनाव होने हैं।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस


SHARE
Previous articleपी. चिदंबम जेल में घर का खाना नहीं मंगा सकेंगे
Next articleसड़क किनारे आमलेट बेचकर अपना पेट पालते थे संजय मिश्रा, इन सेलेब्स ने गरीबी से लड़कर पाई शोहरत
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here