अयोध्या समारोह में बंटेंगे 1 लाख 11 हजार लड्डू, तैयारी जारी

0

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की ओर से प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर अयोध्या में तैयारियां जोरों पर हैं। कोरोना संक्रमण को देखते हुए इसमें बहुत सीमित लोगों को बुलाया गया है। इन्हीं सबके बीच यहां पर प्रसाद भरपूर मात्रा में तैयार करवाया जा रहा है। समारोह में 1,11,000 डिब्बों में प्रसाद के रूप में लड्डू बांटे जाएंगे। मणिराम दास छावनी के साथ ही हंस देवरहा बाबा के भक्त इस काम में लगे हैं। अयोध्या में होने वाले समारोह से पहले मणिराम दास छावनी में लड्डू बनाने की तैयारी चल रही है। यहां पर 1,11,000 डिब्बों में प्रसाद के रूप में लड्डू प्रदान किया जाएगा।

देवराहा हंस बाबा के सेवक तुषार ने अनुसार, मंदिर निर्माण से देश के करोड़ों रामभक्तों की आस्था जुड़ी है। कोरोना वायरस के कारण नियमों की प्रतिबद्धता के चलते लाखों लोग इसमें शामिल नहीं हो पा रहे हैं।

उन्होंने कहा, “ऐसे में हम देवराहा हंस बाबा की ओर से भूमि पूजन के अनुष्ठान का प्रसाद सभी को पहुंचाने का प्रयास करेंगे। इसके लिए तीन, पांच और 11 लड्डू वाले डिब्बे तैयार किए जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि एक विशेष थैला भी है जो कुछ खास लोगों को दिया जाएगा, जिसमें प्रसाद और अयोध्या से जुड़ी किताब भी व अन्य वस्तुएं रहेंगी।”

ज्ञात हो कि अयोध्या समारोह की तैयारी को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ दो अगस्त को अयोध्या जाएंगे। इस दौरान वह संत-महात्माओं के साथ बैठक करने के अलावा सुरक्षा व्यवस्था का भी जायजा लेंगे।

श्रयूज स्त्रोत आईएएनएस

SHARE
Previous articleऑनर का भारत के लैपटॉप बाजार में प्रवेश, 2 नए स्मार्टफोन भी किए लॉन्च
Next articleशनि प्रदोष व्रत: आज कर रहे है शनि प्रदोष व्रत तो जरूर पढ़ें इससे जुड़ी पौराणिक कथा
बहुत ही मुश्किल है अपने बारे में लिखना । इसलिए ज्यादा कुछ नहीं, मैं बहुत ही सरल व्यतित्व का व्यक्ति हूं । खुशमिजाज हूं ए इसलिए चेहरे पर हमेशा खुशी रहती हैए और मुझे अकेला रहना ज्यादा पंसद है। मेरा स्वभाव है कि मेरी बजह से किसी का कोई नुकसान नहीं होना चाहिए और ना ही किसी का दिल दुखना चाहिए। चाहे वो व्यक्ति अच्छा हो या बुरा। मेरे इस स्वभाव के कारण कभी कभी मुझे खामियाजा भी भुगतान पड़ता है। मैं अक्सर उनके बारे में सोचकर भुला देता हूं क्योंकि खुश रहने का हुनर सिर्फ मेरे पास है। मेरी अपनी विचारए विचारधारा है जिसे में अभिव्यक्त करता रहता हूं । जिन लोगों के विचारों से कभी प्रभावित भी होता हूं तो उन्हें फोलो कर लेता हूं । अभी सफर की शुरुआत है मैने कंप्यूटर ऑफ माटर्स की डिग्री हासिल की है और इस मीडीया क्षेत्र में अभी नया हूं। मगर मुझे अब इस क्षेत्र में काम करना अच्छा लग रहा है। और फिर इसी में काम करने का मन बना लेना दूसरों के लिये अश्चर्य पूर्ण होगा। लेकिन इससे पहले और आज भी ब्लागर ने एक मंच दिया चिठ्ठा के रुप में, जहां बिना रोक टोक के आसानी से सबकुछ लिखा या बताया जा सका। कभी कभी मन में उठ रही बातों या भावों को शब्दों में पिरोयाए उनमें खुद की और दूसरों की कहानी कही। कभी उनके द्वारा किसी को पुकाराए तो कभी खुद ही रूठ गया। कई बार लिखने पर भी मन सतुष्ट नहीं हुआ और निरंतर कुछ नया लिखने मन बनता रहता है। अजीब सी बेचैनी जो न जाने क्या करवाएगी और कितना कुछ कर गुजर जाने की तमन्ना लिए निकले हैं इन सफरों, जहां उम्मीद और विश्वास दोनों कायम हैं जो अर्जुन के भांति लक्ष्य को भेद देंगे । मुझे अभी अपने जीवन में बहुत कुछ करना है किसी के सपनों को पूरा करना हैं । अब तो बस मेरा एक ही लक्ष्य हैं कि मैं बस उसके सपने पूरें करू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here