बंगाल : विश्व भारतीय यूनिवर्सिटी में वीडियों कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये जुड़े पीएम

0

पीएम मोदी शुक्रवार को पश्चिम बंगाल की विश्व भारती यूनिवर्सिटी के दीक्षान्ति समारोह में वीडियो कॉन्फ़्रेंसिंग के जरिये शामिल हुए। इस दौरान पीएम ने छात्रों को सम्बोधित करते हुए शिक्षा और कौशल पर जोर दिया। साथ ही में आतंकवाद के मुद्दे पर भी निशाना साधा। अपनी बात पर जोर देते हुए मोदी ने कहा की आप क्या बनते है ये इस बात पर निर्भर करता है की आपकी मानसिकता कैसी है।

पीएम के भाषण की ख़ास बाते :

आपका कौशल आपको मशहूर और बदनाम दोनों कर सकता है

मोदी ने कहा की जैसे जब आप सत्ता में होते है तो आपको संयमित और संवेदनशील रहना पड़ता है ,ठीक उसी प्रकार हर विद्वान को हर उस चीज़ के प्रति जिम्मेदार रहना पड़ता है जिनकी शक्ति उनके पास है। आपका ज्ञान सिर्फ आपका अपना नहीं बल्कि पूरे समाज ,देश और भावी पीढ़ियों की धरोहर होती है। आपका कौशल आपके समाज और राष्ट्र को गर्व करने का मौका भी दे सकती है और वहीँ कला आपके समाज आपके देश को बदनाम भी कर सकती है।

 

आतंक फैलाने वालो में भी कई कौशलवान व्यक्ति है

पीएम ने कहा की ऐसे भी लोग है जो काफी कौशलवान है, ज्ञानी यही लेकिन दुनिया में आतंक फैला रहे है। वहीँ दूसरी ओर ऐसे भी लोग है जो कोरोना जैसी महामारी से दुनिया को मुक्ति दिलाने के वास्ते दिन रात अस्पतालों में डेट हुये है और अपनी जान की बाज़ी लगाते हुए अस्पातलो और  प्रयोगशालाओं में डेट हुए है। बात विचारधारा की नहीं बल्कि मानसिकता की है।

 

देश को एक सूत्र में पिरोना है

पीएम ने गुरुदेव रबीन्द्रनाथ टैगोर का उदहारण देते हुए कहा की ,आज शिवजी जयंन्ती के मौके पर मैं आप सभी को शुभकामनाये देता हूँ। गुरुदेव ने भी शिवाजी पर  कविता लिखी थी,’ एक शताब्दी से पहले किसी अनाम दिन, मैं उस दिन को आज नहीं जानता। किसी पर्वत की ऊंची चोटी पर, किसी जंगल में आपको ये विचार आया था कि आपको देश को एकसूत्र में पिरोना है, खुद को एक देश के लिए समर्पित करना है’

प्रधानमन्त्री ने आगे कहा की गुरुदेव की इस भावना को हमें जीवित रखना है। यदि गुरुदेव इसे यूनिवर्सिटी के रूप में ही देखना चाहते तो इसे अन्य कोई नाम भी दे सकते थे ,लेकिन उन्होंने इसे विश्व भारती नाम दिया। यानी की जो भी यहाँ आएगा वो दुनिया को भारतीयता के नजरिये से देखेगा।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here