लोकसभा / 5 साल में विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या 60% बढ़ी, 8582 तक पहुंचा आंकड़ा

0
234

जयपुर। 5 सालों के दौरान विलफुल डिफॉल्टर्स की संख्या में करीब 60% की बढ़ोतरी की गई है और अब यह आंकड़ा 8580 को भी पार कर चुका है. आपको बता दें कि सरकार ने लोकसभा में दी जानकारी में कहा है कि वित्त वर्ष 2014 15 के अंत में यह आंकड़ा 5350 के करीब था. वही बिल्कुल बिल्कुल डिफॉल्टर एसिडिटी व्यक्ति को कहा जाता है जिसने पैसे देने में सक्षम होने के बावजूद भी कर्ज नहीं चुकाया हो.

आपको बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एक सवाल के जवाब को देते हुए कहा है कि पिछले 5 सालों के अंतर्गत विलफुल डिफॉल्टर की संख्या में तेजी से बढ़ोतरी देखने को मिली है वही आपको बता दें कि साल 2014 15 में यह बढ़ रही थी वही यह आंकड़ा 15 -16 में भी बड़ा और लगातार अब अपने उच्चतम स्तर पर पहुंच चुका है.

वहीं आपको बता दें कि निर्मला सीतारमण ने कहा कि विलफुल डिफॉल्टर्स के खिलाफ व्यापक रूप से कार्रवाई करी जाएगी और आरबीआई के दिशानिर्देशों के तहत विलफुल डिफॉल्टर्स को बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा कोई अतिरिक्त सुविधा नहीं दी जाएगी इसके अलावा आपको बता दें कि उनकी यूनिट को नए वर्ष की स्थापना के लिए भी काम में लिया जाएगा यह बात खुद निर्मला सीतारमण ने कही है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here