रेवाड़ी : कोरोना से 77 दिन बाद 77वीं मौत मृत्यु से अगले दिन रिपोर्ट पॉजिटिव

0

कोरोना ने एक और जिंदगी छीन ली है। गांव नैचाना निवासी 63 वर्षीय बुजुर्ग तबीयत बिगड़ने पर अस्पताल में भर्ती हुए थे। इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई तथा अगले दिन रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। जिले में कोरोना से मौत का केस 77 दिन बाद आया है। इससे पहले 19 जनवरी को 69 वर्षीय महिला ने दम तोड़ा था। इसके साथ ही अब तक जान गंवाने वालों का आंकड़ा 77 हो गया। बुधवार को 8 नए संक्रमित भी मिले तथा 5 मरीज ठीक हो गए।
मंगलवार को तबीयत बिगड़ने पर बावल सीएचसी में ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें रेफर कर दिया। रेवाड़ी अस्पताल में देर शाम इलाज के दौरान उन्होंने दम तोड़ दिया। अस्पताल प्रबंधन की ओर से मृत्यु का कारण जानने के लिए कोरोना टेस्ट किया गया था। बुधवार को बिरेंद्र सिंह की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली। इसके चलते कोविड प्रोटोकॉल से ही उनका अंतिम संस्कार किया गया।

इधर, मृतक के चचेरे भाई हिम्मत सिंह का कहना है कि वैक्सीन लगवाने के बाद से ही बिरेंद्र की तबीयत बिगड़नी शुरू हुई थी। हालांकि परिवार के अन्य लोगों ने भी वैक्सीन लगवाई थी।
अस्पताल ने आधार को ही आधार माना है। वहीं परिवार का कहना है कि 2 अप्रैल को डोज लगी थी, उसका मैसेज भी आया हुआ है। अस्पताल के रिकॉर्ड के अनुसार मृत्यु 29 मार्च को हुई थी।

। बुधवार को टीके नहीं लगाए जा सके। हालांकि ग्रामीण क्षेत्र की पीएचसी व सीएचसी में कुछ वैक्सीन बची हुई थी। करीब 300 लोगों को ही डोज दी गई। डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार ने बताया कि अब 8 अप्रैल को वैक्सीन आने की उम्मीद है। कोविशील्ड की 20 हजार डोज अलॉट हुई हैं। 5 हजार डोज को-वैक्सीन की आने की संभावना है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here