मोदी सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज ७ से 12 फ़ीसदी बढाया जाने पूरी सच्चाई

0

मोदी सरकार ने किसान क्रेडिट कार्ड लोन पर ब्याज 7 फीसद से बढ़ाकर 12 फीसद कर दिया है यह खबर बहुत ही तेजी से बयारल हो रही हैं  ऐसा दावा एक वायरल खबर में किया जा रहा है। हालांकि पीआईबी फैक्ट चेक में यह खबर फर्जी पाई गई है। केंद्र सरकार ने केसीसी लोन के ब्याज दर को बढ़ाने के संबंध में ऐसी कोई घोषणा नहीं की है। पीआईबी फैक्ट चेक ने ट्वीट करके लोगों को आगाह किया है कि ऐसी खबरों के झांसे में न आएं। आइए जानें कैसे KCC मिलता है और इस पर लोन पाने के लिए क्या करें? लोन पर मौजूदा समय में कितना ब्याज लगता है बैसे यह खबर पूरी तरह से झूटी पाई गई हैं केसीसी खाते की विशेषताएं और फायदे

  • 1केसीसी खाते में क्रेडिट बेलेन्स पर बचत बैंक की दर पर ब्याज दिया जाता है।
  • 2समस्त केसीसी उधारकर्ताओं के लिए मुफ्त एटीएम सह डेबिट कार्ड (स्टेट बैंक किसान कार्ड)
  • 3रु. 3 लाख तक के ऋण राशि के लिए 2% प्रति वर्ष की दर से ब्याज छूट उपलब्ध है।
  • 4शीघ्र चुकौती के लिए 3% प्रति वर्ष की दर से अतिरिक्त ब्याज छूट
  • 5समस्त केसीसी ऋणों के लिए अधिसूचित फसल /अधिसूचित क्षेत्र, फसल बीमा के अंतर्गत कवर किए जाते हैं।
  • 6प्रथम वर्ष के लिए ऋण की मात्रा कृषि लागत, फसल के बाद खर्च और कृषि भूमि अनुरक्षण लागत के आधार पर निर्धारित किया जाएगा।
  • 7बाद के 5 वर्षों के दौरान वित्त की मात्रा में वृद्धि के आधार पर ऋण स्वीकृत किया जाएगा।
  • 8रु. 1.60 लाख तक की केसीसी सीमा के लिए संपार्श्विक प्रतिभूति की आवश्यकता नहीं है ।
  • 9एक वर्ष अथवा चुकाने की देय तिथि तक, इनमें से जो भी पहले हो, 7% प्रति वर्ष की दर से साधारण ब्याज लगाया जाएगा।
  • 10देय तिथियों के अंदर लोन चुकाने पर कार्ड दर पर ब्याज देना पड़ेगा ।
  • 11देय तिथि के बाद अर्ध वार्षिक रूप से चक्रवृद्धि ब्याज लगेगा।
  • 12चुकौती अवधि का निर्धारण फसल जिसके लिए ऋण प्रदान किया गया है के अनुमानित कटाई और विपणन अवधि के अनुसार किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here