फ्रैंकलिन टेम्पलटन की बढ़ी मुश्किलें, ईडी ने दर्ज किया केस जाने क्या है पूरा मामला

0

म्यूचुअल फंड कंपनी फ्रैंकलिन टेम्पलटन की मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही है। निवेशकों को पैसे लौटाने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद अब प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने भी कंपनी पर मामला दर्ज किया है। फ्रैंकलिन टेम्पलटन ने अपनी छह म्यूचुअल फंड योजनाएं बीते साल अप्रैल 2020 में बंद कर दी थी।चेन्नई की आर्थिक अपराध शाखा ने बीते साल सितंबर में एफआईआर दर्ज की थी और उसी आधार पर ईडी ने मामला की जांच आगे बढ़ाई है।

फ्रैंकलिन टेम्पलटन के कई निवेशक कंपनी को कोर्ट में लेकर गए और अपना रिफंड मांगा।कंपनी के फॉरेंसिक ऑडिट में पता चला था कि निवेश योजनाओं को बंद करने से ठीक पहले कंपनी के अधिकारियों ने अपने निवेश को बेच दिया था। कंपनी की छह बंद योजनाओं में करीब 25000 करोड़ अटके हुए हैं।

निदेशालय इस बात की पड़ताल करेगा कि क्या छह निवेश योजनाओं को बंद करने से पहले कंपनी के शीर्ष अधिकारियों ने निवेशकों के पैसे कहीं और लगाए थे। इस मामले में एचटी फ्रेंकलिन टेम्पलटन से संपर्क नहीं कर पाया।इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने फ्रैंकलिन टेम्पलटन म्युचुअल फंड को  9,122 करोड़ रुपये लौटाने के लिए कहा। इस पूरी प्रक्रिया में सर्वोच्च न्यायालय ने एसबीआई म्युचुअल फंड को बिचौलिये के रूप में नियुक्त किया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने आदेश में यह भी कहा कि अगर कोई भी पक्ष संतुष्ट ना हो तो वह सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटा सकते हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here