जरूरत के वक्त नहीं होगी पैसों की दिक्कत, 12 लाख किसानों को क्रेडिट कार्ड देने की तैयारी देखे न्यू अपडेट

0

2 लाख लाभार्थियों को किसान क्रेडिट कार्ड जारी करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार के बीच सहमति बन चुकी है. जल्द ही केंद्र सरकार इसे लेकर आदेश जारी कर देगी. वर्तमान में उत्तर प्रदेश में प्रधानमंत्री-किसान सम्मान निधि योजना के कुल 2.43 करोड़ लाभार्थी हैं. इनमें से 1.53 करोड़ किसानों के पास है, जबकि करीब 90 लाख किसानों ने इसके लिए आवेदन भी नहीं किया है.

  किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में जानिए

आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत सरकार ने विशेष अभियान चलाकर 2 लाख करोड़ रुपये की खर्च सीमा के 2.5 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड जारी किए जाने की घोषणा की. फरवरी 2020 से ही केंद्र सरकार किसानों को किसान क्रेडिट कार्ड देने के लिए अभियान चला रही है. जैसा कि नाम से ही जाहिर है कि ये एक तरह का क्रेडिट कार्ड है, जिसके जरिए किसान के पास पैसा नहीं है तो वो इसका इस्तेमाल करके खाद, बीज और खेती के लिए जरूरी दूसरी चीजें खरीद सकता है. सरकार किसान क्रेडिट कार्ड पर ब्याज बेहद कम लेती है, ये करीब 2 से 4 परसेंट के बीच होता है. हालांकि इसका फायदा तभी है जब किसान किस्तों को समय पर चुका दें. किसान क्रेडिट कार्ड को पीएम-किसान सम्मान निधि स्कीम से लिंक कर दिया गया है.

  किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन

1. पीएम किसान योजना की ऑफिशियल वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जाएं

2. इस साइट से किसान क्रेडिट कार्ड का फॉर्म डाउनलोड करें

3. इस फॉर्म को भरें, जिसमें आपको अपनी कृषि योग्य जमीन के दस्तावेज, फसल की डिटेल की जानकारी देनी होगी

4. आपको ये भी बताना होगा कि आपने किसी बैंक या शाखा से कोई और किसान क्रेडिट कार्ड नहीं बनवाया है.

  कहां से मिलेगा KCC

1. आईडी प्रूफ जैसे-वोटर कार्ड, पैन कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस. इन्हीं में से कोई एक आपका अड्रेस प्रूफ भी बन जाएगा.

2. KCC किसी भी को-ऑपरेटिव बैंक, क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक(RRB) से हासिल किया जा सकता है.

3. SBI, BOI और IDBI बैंक से भी यह कार्ड लिया जा सकता है.

4. नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (NPCI) Rupay KCC जारी करता है.

5. अब बैंकों ने इसकी प्रोसेसिंग फीस खत्म कर दी है. जबकि पहले केसीसी बनवाने के लिए 2 से 5 हजार रुपये तक का खर्च आता था.

  किसान क्रेडिट कार्ड के लिए योग्यता

किसान क्रेडिट कार्ड का फायदा किसानों के साथ साथ पशुपालन और मछलीपालन से जुड़े लोग भी ले सकते हैं. उन्हें भी KCC के जरिए 2 लाख रुपये तक का कर्ज मिल सकेगा. यानी खेती-किसानी, मछलीपालन और पशुपालन से जुड़ा कोई भी व्यक्ति, भले ही वो किसी और की जमीन पर खेती करता हो, इसका फायदा उठा सकता है. इसके लिए के लिए व्यक्ति की उम्र कम से कम 18 साल और अधिकतम 75 साल होनी चाहिए. किसान की उम्र 60 साल से अधिक है तो एक को-अप्लीकेंट भी होना चाहिए.

  KCC के लिए जरूरी दस्तावेज

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए हकदार कौन है, इसके लिए बाकायदा एक सिस्टम है. जब कोई इस क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करेगा तो उसका राजस्व रिकॉर्ड देखा जाएगा, कि आवेदन करने वाले किसान है या नहीं. आवेदक को अपना पैन कार्ड, आधार देना होगा. आवेदक को एक एफिडेविट भी देना होगा जिसमें ये स्वीकार करना होगा कि उसका किसी बैंक में कोई भी कर्ज बकाया नहीं है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here