गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी पीने के ये हैं फायदे

0

नारियल पानी आपकी सेहत के लिए बहुत अच्छा होता है। नारियल पानी में इलेक्ट्रोलाइट, पोटैशियम, आयरन, मैंगनीज, विटामिन सी और फोलेट जैसे कई और पोषक तत्व होते हैं। हालांकि नारियल पानी का स्वाद मीठा होता है, इसमें प्राकृतिक शर्करा होती है और कृत्रिम मिठास का उपयोग शायद ही कभी किया जाता है। तो यह आपके शरीर या रक्त शर्करा के स्तर पर कोई प्रभाव नहीं है। गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी को सबसे अच्छा माना जाता है। ज्यादातर महिलाओं को गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी पीना चाहिए। प्रेगनेंसी में नारियल पानी पीना: फायदे, मिथक व अन्य | Drinking Coconut  Water During Pregnancy in Hindi

-गर्भावस्था की पहली तिमाही में डिहाइड्रेशन की समस्या आम है। ऐसे में नारियल पानी का अधिक सेवन करना चाहिए ताकि शरीर में डिहाइड्रेशन न हो। इससे कब्ज जैसी समस्याओं से भी राहत मिलती है।

-मनी महिलाओं को चाय और कॉफी पीने की आदत होती है। हालांकि, गर्भावस्था के दौरान डॉक्टर चाय और कॉफी नहीं पीने की सलाह देते हैं, इसलिए नारियल पानी एक बेहतरीन उपाय हो सकता है। हम दिन में किसी भी समय नारियल पानी पी सकते हैं।

-गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी पीने से इम्यून सिस्टम बेहतर होता है और किडनी की कार्यक्षमता में भी सुधार होता है।

-नारियल पानी मां और बच्चे दोनों को अच्छे पोषक तत्व प्रदान करता है इसलिए गर्भावस्था के दौरान नारियल पानी पीना जरूरी है।

-किसी भी चीज का अधिक सेवन हानिकारक हो सकता है। एक महिला को एक गिलास नारियल पानी पीने से पर्याप्त पोषक तत्व मिलते हैं। इसके अलावा, हमेशा ताजा नारियल पानी पिएं। बासी या खुला नारियल पानी न पिएं। अगर नारियल पानी अलग स्वाद लेता है, तो इसे जितना संभव हो पीने से बचें।

-जर्नल ऑफ मेडिसिनल फूड्स में प्रकाशित एक अध्ययन में भी कहा गया है कि नारियल पानी मधुमेह को नियंत्रित करने में मदद करता है। लेकिन, साथ ही यह याद रखना भी महत्वपूर्ण है कि, क्योंकि यह प्राकृतिक रूप से मीठा होता है और इसमें फ्रुक्टोज होता है, इसलिए नारियल के पानी का अधिक मात्रा में सेवन नहीं करना चाहिए। स्वास्थ्य विशेषज्ञों के अनुसार, मधुमेह रोगियों को रोजाना 1 कप (240 मिली) से अधिक नारियल पानी का सेवन नहीं करना चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here